कोरोना संक्रमण कम होते ही तेज हुई राजनीतिक गतिविधियां, 27 जून को होगी भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति

बिहार में कोरोना का संक्रमण कम होने से जनजीवन धीरे-धीरे पटरी पर आ रहा है। इसके साथ ही अब राजनीतिक गतिविधियां भी शुरू हो गई हैं। पार्टियों में बैठकों का दौर देखने को मिल रहा है।

कोरोना संक्रमण कम होते ही तेज हुई राजनीतिक गतिविधियां, 27 जून को होगी भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति

बिहार में कोरोना का संक्रमण कम होने से जनजीवन धीरे-धीरे पटरी पर आ रहा है। इसके साथ ही अब राजनीतिक गतिविधियां भी शुरू हो गई हैं। पार्टियों में बैठकों का दौर देखने को मिल रहा है। ऐसे में अब भारतीय जनता पार्टी ने इसी महीने अपनी राज्य कार्यसमिति बुलाने का फैसला किया है। पार्टी की राज्य कार्यसमिति 27 जून को बुलाई गई है, हालांकि यह बैठक वर्चुअल मोड में होगी।

बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कहा है कि 45 संगठनात्मक जिलों के नेता अपने-अपने जिलों से सदस्यों में शामिल होंगे। प्रदेश से बीजेपी अध्यक्ष के मुताबिक मंगलवार को पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों से इस पर चर्चा हुई। बैठक में राज्य कार्यसमिति की रूपरेखा तय करने के लिए कई एजेंटों पर चर्चा हुई। निर्णय लिया गया कि 27 जून को भाजपा की राज्य कार्यसमिति की बैठक वर्चुअल मोड में की जाए। राज्य कार्यसमिति में बिहार के प्रभारी भूपेंद्र यादव को भी शामिल किया जाएगा। इनके अलावा बिहार से जुड़े कई केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेता भी कार्यसमिति को संबोधित करेंगे। हालांकि, कोरोना संक्रमण को देखते हुए सीमित लोगों को ही राज्य कार्यालय में बुलाया जाएगा।

यह पहला मौका होगा जब प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में स्वस्थ्य निकाय के करीब 100 पदाधिकारी शामिल होंगे, बाकी नेता वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक में शामिल होंगे। कार्यसमिति की बैठक में कई एजेंटों पर चर्चा होने की उम्मीद है। बैठक में बिहार के मौजूदा राजनीतिक हालात पर चर्चा होगी। साथ ही पार्टी भविष्य को लेकर आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा तय करेगी।