भारत नेपाल पत्रकार यूनियन के माध्यम से पत्रकार सम्मान समारोह

शिवहर में भारत नेपाल पत्रकारों का साझा संगठन भारत नेपाल पत्रकार यूनियन के तहत पत्रकार सम्मान समारोह के नाम से एक कार्यक्रम शिवहर जिला मुख्यालय स्थित जीरो माइल के नजदीक फैमिली रेस्टोरेंट के सभागार में अंत राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश गौरव की अध्यक्षता में आयोजित की गई।

भारत नेपाल पत्रकार यूनियन के माध्यम से पत्रकार सम्मान समारोह

शिवहर में भारत नेपाल पत्रकारों का साझा संगठन भारत नेपाल पत्रकार यूनियन के तहत पत्रकार सम्मान समारोह के नाम से एक कार्यक्रम शिवहर जिला मुख्यालय स्थित जीरो माइल के नजदीक फैमिली रेस्टोरेंट के सभागार में अंत राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश गौरव की अध्यक्षता में आयोजित की गई। कार्यक्रम में वर्तमान समय में प्रेस की स्वतंत्रता पर विचार विमर्श के साथ पत्रकारों की मूलभूत समस्या पर चर्चा सहित विभिन्न विन्दुओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भारत नेपाल पत्रकार यूनियन के अंत राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश गौरव ने कहां कि वर्तमान समय में पत्रकारों को मजबूती के साथ संगठित होने की आवश्यकता हैं।हमें अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना होगा हमें संगठित होकर सरकार से पत्रकार सुरक्षा कानून को जमीनी स्तर पर लागू करवाना होगा। उन्होंने कहां कि हम संगठन को मजबूती प्रदान करने तथा पदाधिकारियों को उचित सम्मान दिलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। साथ ही आए दिन पत्रकारों के साथ हो रहे अत्याचार,आत्मघाती हमले,हत्या,मारपीट आदि की घटनाओं पर चिन्ता जाहिर की गई।भविष्य में ऐसा न हो इस पर विचार किया गया।पत्रकारों के साथ हुए किसी घटना पर सरकार व प्रशासन के द्वारा त्वरित कार्रवाई नहीं किया जाना चिन्ता का विषय हैं।कार्यक्रम में पत्रकारों ने संगठित होकर एकसाथ एक दूसरे पत्रकार को सहयोय करने की बात कहीं।
 यह कार्यक्रम अंत राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश गौरव की अध्यक्षता व भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय गुप्ता के संचालन में आयोजित समारोह का उदघाटन नेपाल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रंजन भंडारी,मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजू कुमार सोनी,अंत राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अरुण कुमार साह,अंतराष्ट्रीय मीडिया प्रभारी सुजीत कुमार चंद्रवंसी आदि ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।
इस दौरान भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय कुमार गुप्ता ने कहां कि पत्रकारिता वह जज्बा हैं, जिससे समाज व देश की बड़ी सेवा होती हैं।वैगर किसी इमदाद व सुरक्षा के पत्रकार जो काम करते हैं,उसकी तारीफ जितनी भी की जाय,वह कम होगी।आज जरूरत हैं इसी तरह के जुनून व माददा रखने वाले इस फील्ड में आए और देश के चौथा स्तंभ को और भी सशक्त बनाएं।
कार्यक्रम में स्मारिका प्रकाशित करने कभी राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय कुमार गुप्ता के द्वारा प्रस्ताव रखा गया।जिसे सभी पत्रकारों ने सर्व सम्मति से प्रस्ताव पारित किया।
पत्रकार सम्मान समारोह को उपाध्यक्ष अरुण कुमार साह,नेपाल राष्ट्रीय अध्यक्ष रंजन भंडारी,रौशन कुमार साह अनुराग कश्यप,श्याम गोपाल,शिव प्रसाद तिवारी समेत दर्जनों पत्रकारों ने संबिधित करते हुए पत्रकारों से कहां कि अकेले किसी व्यक्ति का कोई अस्तित्व नही होता।संगठन का साथ मिलने पर ही वह चमकता हैं और रोशनी बिखेरता हैं।संगठन से ही हमारी पहचान बनती हैं।इसलिए संगठन हमारे लिए सर्वोपरि होना चाहिए।संगठन के प्रति हमारी निष्ठा और समर्पण किसी व्यक्ति के लिए नही बल्कि उससे जुड़े विचार के प्रति होना चाहिए।
मौके पर उपस्थित निवाचन पदाधिकारी राजू कुमार सोनी ने कहां कि पत्रकार और समाज एक दूसरे से जुड़े हैं।पर आज पत्रकार केवल प्रसिद्ध पाने का रास्ता बन गई हैं।प्रसिद्ध ऐसे नही मिलती।इतिहास गवाह हैं कि पत्रकार के लेखन सामाजिक,आर्थिक हर तरह की रचना मन को भा जाती थी।समाज के सामने जब भी ऐसी रचनाएं आई तब पत्रकारों ने प्रसिद्धि पाई।
सभी आए हुए नवनिर्वाचित पत्रकार कार्यकारिणी सदस्यों और पदाधिकारियो को मिथिला के प्रतीक पाग, दोपट्टा और माल्यार्पण कर स्वागत किया गया।सभी पत्रकारों को एकजुट होकर संगठन के प्रति काम करने की प्रेरणा स्वरूप प्रस्तुत की गई।
 साथ ही सभी पत्रकारों के बीच प्रशस्ति पत्र के साथ साथ आई कार्ड का भी वितरण किया गया।         .
 स्वतंत्र लेखक एवं पत्रकारिता क्षेत्र से जुड़े प्रदीप कुमार नायक कहते हैं कि प्रेस की स्वतंत्रता शांति और लोकतंत्र का मूलभूत आधार हैं।इसलिए आम जन तक सूचनाएं स्वतंत्र और  निर्वाध गति से पहुँचती हैं, तो उसे समाज का हर व्यक्ति इनके जरिए कुछ ऐसी शक्तियां ग्रहण करता हैं, जो उसे अपने जीवन को सही तरीके से संचलित करने में मदद करती हैं।सूचना की पहुँच मनुष्य की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के मूल अधिकार के लिए बेहद जरूरी हैं। इस अवसर पर अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश गौरव के द्वारा संगठन को मजबूती प्रदान करने तथा पदाधिकारियों को उचित  किए गए कार्यों को देखते हुए कोरोना योद्धा प्रशस्ति पत्र से सम्मानित भी किया गया है।