संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड के खिलाफ आहूत ' देशव्यापी ' रेल रोको '

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड के खिलाफ आहूत ' देशव्यापी ' रेल रोको ' के मौके पर आज पटना स्टेशन गोलम्बर पर 11:30 बजे दिन में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति, बिहार के तत्वावधान में किसान एवं मजदूर संगठनों के कार्यकर्ताओं का जुटान हुआ।

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड के खिलाफ आहूत ' देशव्यापी ' रेल रोको '

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड के खिलाफ आहूत ' देशव्यापी ' रेल रोको ' के मौके पर आज पटना स्टेशन गोलम्बर पर 11:30 बजे दिन में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति, बिहार के तत्वावधान में किसान एवं मजदूर संगठनों के कार्यकर्ताओं का जुटान हुआ।  करीब आधे घंटे तक पटना स्टेशन गोलम्बर के समीप प्रदर्नशकारी कार्यकर्ताओं ने किसान आन्दोलन के समर्थन और लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड के खिलाफ नारेबाजी की।

उसके बाद किसान एवं मजदूर संगठनों  के प्रतिनिधियों ने अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति , बिहार के बैनर तले  जुलूस के रूप में गगनभेदी नारे लगाते हुए पटना स्टेशन की ओर प्रस्थान किया। पटना जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर एक पर प्रदर्शनकारियों के पहुंचने के पहले ही भारी तादाद में रेलवे पुलिस आ पहुंची और उसने किसान आन्दोलन के समर्थन में जुटे आन्दोलनकारियों को आगे बढ़ने से रोक दिया।

भारी कश्मकश के बाद अन्ततः   प्रदर्शनकारियों ने पटना स्टेशन परिसर में ही एक सभा का आयोजन किया जिसका संचालन अखिल भारतीय किसान महासभा के राज्य सचिव साथी रामाधार सिंह ने किया। 'रेल रोको'  कार्यक्रम का नेतृत्व तथा सभा को सम्बोधित करने वाले प्रमुख नेताओं में बिहार राज्य किसान सभा के महासचिव अशोक प्रसाद सिंह , अ.भा.किसान महासभा,बिहार के सह सचिव उमेश सिंह , अ.भा.किसान खेत मजदूर संगठन के नेता मणिकांत पाठक , बिहार राज्य किसान सभा (जमाल रोड) के नेता गोपाल शर्मा , एनएपीएम के उदयन  , अ.भा.खेत मजदूर किसान सभा के नन्द किशोर सिंह , जय किसान आन्दोलन के अनूप कुमार सिन्हा, अ.भा. किसान मजदूर सभा के रामचंद्र सिंह , किसान संघर्ष समिति (बिहार) के दिनेश सिंह , आल इंडिया किसान फेडरेशन के जमीरूद्दीन ,आदि उल्लेखनीय हैं।

'रेल रोको' कार्यक्रम में शामिल मजदूर संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी सभा को संबोधित किया। इसमें ऐक्टू के नेता रणविजय कुमार, सी.आई.टी.यू. के राज्य महासचिव गणेश शंकर सिंह , बिहार एटक के महासचिव गजनफर नवाब  , एआईयूटीयूसी  के नेता सूर्यकर जीतेन्द्र , इफ्टू (सर्वहारा) के नेता आकांक्षा प्रिया , असंगठित एवं भवन निर्माण श्रमिक यूनियन के रामलखन प्रमुख हैं 

प्रदर्शनकारी नारे लगा रहे थे -   लखीमखीरी किसान हत्याकांड के अभियुक्तों को दंडित करो , केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी को अविलंब बर्खास्त करो , कारपोरेट विरोधी किसान आन्दोलन जिन्दाबाद , तीन काले कृषि कानूनों को रद्द करो , एमएसपी की कानूनी गारंटी करो , प्रस्तावित बिजली संशोधन विधेयक 2020 को वापस करो ,आदि।

'रेल रोको' कार्यक्रम में शामिल अन्य प्रमुख लोगों में किसान महासभा के नेता राजेंद्र पटेल , बिहार राज्य किसान सभा के रवीन्द्र नाथ राय , सीआईटीयू के नेता अरूण कुमार मिश्रा , एटक के नेता अजय कुमार एवं राम लला सिंह , इफ्टू (सर्वहारा) के नेता राधेश्याम एवं मंटू , ऐक्टू के नेता जीतेन्द्र  , महिला नेत्री अनामिका , छात्र नेता निकोलाई शर्मा , आदि उल्लेखनीय हैं।
जारीकर्ता - अशोक प्रसाद सिंह , उमेश सिंह , नन्द किशोर सिंह , मणिकांत पाठक , गोपाल शर्मा , उदयन , अनूप कुमार सिन्हा