क्या भागलपुर बम धमाकों के पीछे कोई आतंकी साजिश है?

भागलपुर। तातारपुर थाना क्षेत्र के काजबली चक में भागलपुर बम विस्फोट में अब तक चार अलग-अलग परिवारों के 12 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं 12 से ज्यादा लोग घायल हैं।

क्या भागलपुर बम धमाकों के पीछे कोई आतंकी साजिश है?

भागलपुर। तातारपुर थाना क्षेत्र के काजबली चक में भागलपुर बम विस्फोट में अब तक चार अलग-अलग परिवारों के 12 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं 12 से ज्यादा लोग घायल हैं। विस्फोट के बाद से स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर दुख जताते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात की है. हर कोई इस घटना के पीछे की असली वजह जानना चाहता है कि आखिर ये धमाका क्यों हुआ? क्या यह पटाखों के निर्माण के दौरान हुआ था, या कोई बम बनाया जा रहा था? इन सभी बिंदुओं पर पुलिस की जांच जारी है। पुलिस को घटना स्थल के मलबे से 5 किलो बारूद और बड़ी संख्या में लोहे की कीलें मिली हैं। इस वजह से पुलिस बम ब्लास्ट के एंगल से भी जांच कर रही है।

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले आईबी ने भागलपुर पुलिस को भी अलर्ट किया था। इस बीच, पुलिस ने संकेत दिया है कि विस्फोट बम बनाने के दौरान हुआ था। भागलपुर के एसएसपी बाबू राम ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि बम बनाते समय धमाका हुआ था. एसएसपी बाबूराम ने प्रारंभिक जांच के बाद बताया कि यहां तीन लोग पटाखे बनाते थे। इसमें अचानक हुए विस्फोट से चार घर गिर गए और लोग मलबे के नीचे दब गए. एफएसएल की टीम जांच कर रही है। पूरी रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा कि यह किस तरह का विस्फोटक था।

पुलिस मुख्यालय अलर्ट पर, एटीएस कर सकती है जांच

इस मामले को लेकर बिहार पुलिस मुख्यालय भी अलर्ट पर है और पुलिस मुख्यालय ने भागलपुर के एसएसपी बाबू राम को हर बिंदु पर विस्फोट की पूरी जांच कर जल्द विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा है. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर संजय सिंह ने न्यूज18 से खास बातचीत के दौरान यह जानकारी दी। संजय सिंह के मुताबिक, शुरुआती जांच में पता चला है कि धमाका पटाखा फैक्ट्री में हुआ, लेकिन जिस तरह का धमाका हुआ उसने कई सवाल खड़े किए हैं. फिलहाल इसकी जांच भागलपुर पुलिस और एफएसएल की टीम कर रही है। जरूरत पड़ी तो एटीएस भी करेगी। एडीजी ने यह भी कहा कि हाल के दिनों में भागलपुर और आसपास के जिलों में सिलसिलेवार बम और विस्फोट चिंता का विषय हैं.

भागलपुर में बम धमाका

आपको बता दें कि भागलपुर में इस तरह के धमाकों का सिलसिला जारी है. पिछले 22 जनवरी, 2022 - हबीबपुर के करोरी बाजार में घर में बम फट गया। इसमें दो बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए। इससे पहले 9 दिसंबर 2021 को नाथनगर स्टेशन के पास कूड़े के ढेर में बम फट गया था जिसमें कचरा लेने गए एक व्यक्ति की मौत हो गई थी. इससे पहले 11 दिसंबर 2021 को मोमिन टोला में बम ब्लास्ट हुआ था, जिसमें एक बच्चा घायल हो गया था। 13 दिसंबर 2021 को मखदूम शाह दरगाह के पास टिफिन बम फट गया जिसमें 7 साल के बच्चे की मौत हो गई। इसके तुरंत बाद, मखदूम शाह दरगाह के पास से दो बम बरामद किए गए।

भागलपुर पुलिस को एफएसएल जांच रिपोर्ट का इंतजार

इधर, स्थानीय लोगों का यह भी दावा है कि शब-ए-बरात के लिए घर में बम बनाया जा रहा था, जिसकी वजह से यह धमाका हुआ. एक घायल व्यक्ति ने भी इसकी पुष्टि की है। इस बीच, भागलपुर क्षेत्र के डीआईजी सुजीत कुमार ने शुरुआती जांच की स्थिति पर कहा कि एफएसएल टीम जांच कर रही है, उसके बाद ही यह स्पष्ट होगा कि यह किस तरह का विस्फोट था.